Connect with us

Indian News

The one who says ‘Journey Never Ends’

Published

on

 

Aman Chotani is a professional travel and lifestyle photographer based in New Delhi India who explores the world documenting travel, culture, and life. He spent his formative years in India, but after traveling to South Africa to complete his master’s degree in Photography he discovered his passion for travel and photography.

 

He began as an assistant to National Geographic Photographer Louis Kleynhans and after a year he ventured on out on his own. He quickly began exploring the world documenting travel, culture, and life and eventually moved back to New Delhi India where he started his photography journey.

His purpose is to take photographs to define his experiences, to capture these moments and share the earth’s most extraordinary places”. His pictures are vivid and tells intimate stories about the people and their true lives. Aman seems to have always inspired and impressed with such stories and his photographs continue to impress us.

He has got some immense and glorified achievements in his journey and his photography traits speak more than just a click.Here are some of his notable work through his LENSES;

1.Group Exhibition in Yekaterinburg, Russia – 2017

2.Honorable Mention for 3 Images in International Photography Awards 2016

3.Nominee Award at Black and White Spider Awards 2016

4.Honorable Mention in Monochrome Photography Awards 2015

5.Nominee Award at Black and White Spider Awards 2015

6.Honorable Mention in International Photography Awards 2015

7.Finalist for Siena International Photo Awards 2015 (Italy)

8.Honorable Mention in Portrait Category at ND Awards 2015

9.Solo Exhibition “Portraits Talk” at India Habitat Center – Delhi, 2015

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Indian News

जगदलपुर से “भंजदेव” का लड़ना लगभग तय

Published

on

कमल चंद्र भंजदेव

सूत्रों से मिली ख़बर के अनुसार !!
बस्तर महाराज व छत्तीसगढ़ राज्य युवा आयोग के अध्यक्ष कमल चंद्र भंजदेव का बस्तर जिला मुख्यालय के एकमात्र सामान्य सीट जगदलपुर से आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के रूप में उतरना लगभग तय हो चुका है. जगदलपुर से श्री भंजदेव को लड़ाकर भाजपा पूरे बस्तर संभाग को साधने के फिराक में है. भाजपा रणनीतिकारों की योजना श्री भंजदेव के प्रति आदिवासियों की आस्था को वोट में तब्दील करवाकर बस्तर संभाग के पूरे 12 विधानसभा सीटों में अधिकाधिक लीड बनाकर लगातार चौथी बार भाजपा सरकार बनाने की है. बस्तर सहित कांकेर क्षेत्र में भी उच्च शिक्षित युवा नेता श्री भंजदेव का स्टार प्रचारक के रूप में उपयोग पार्टी नेतृत्व करने जा रही है. पार्टी के अंदरूनी सूत्रों से खबर आ रही है कि जगदलपुर से श्री भंजदेव की उम्मीद्वारी के बहाने भाजपा की नजर बस्तर रियासत के प्रभाव वाले 18 विधानसभा सीटों पर है, जहाँ श्री भंजदेव के प्रभाव का इस्तेमाल कर स्थितियाँ पार्टी के अनुकूल बनाई जा सकती है. गौरतलब है कि भाजपा प्रवेश के बाद से ही श्री भंजदेव लगातार पार्टी को मजबूत करने में लगे हुए हैं. लगभग डेढ़ साल से चल रहे देवगुड़ी वंदन यात्रा के अभिनव पहल को मिल रही ऐतिहासिक सफलता और यात्रा के दौरान प्रत्येक जगह श्री भंजदेव के स्वागत व उन्हें सुनने उमड़ रही भीड़ से उनकी लोकप्रियता व जनता के बीच उनके प्रति आस्था का अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है.

कमल चंद्र भंजदेव

कमल चंद्र भंजदेव

 

बस्तर की प्राचीन संस्कृति, सभ्यता व परंपराओं को बचाए रखने व उन्हें पुनर्जीवित करने के लिए सुदूर आदिवासी क्षेत्रों में जाकर वे जागरूकता अभियान भी चला रहे हैं. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की आत्मा ‘राष्ट्रीयता व सनातन संस्कृति की रक्षा’ के संकल्प को आगे बढ़ाते हुए श्री भंजदेव लगातार धर्मांतरण का विरोध करते हुए आदिवासियों के रोजगार व स्वालंबन हेतु प्रयासरत हैं. अंदरूनी सर्वे रिपोर्ट में भी कमल चंद्र भंजदेव जीतने योग्य मजबूत प्रत्याशी के रूप में पाए गए हैं, उनकी उम्मीद्वारी व नेतृत्व को बस्तर एक नई उम्मीद के रूप में देख रहा है.

Continue Reading

Indian News

रायपुर कलेक्टर ओपी चौधरी का इस्तीफा मंजूर!

Published

on

ओपी चौधरी

भारत सरकार ने रायपुर कलेक्टर ओपी चौधरी का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। पता चला है, प्रधानमंत्री सचिवालय ने कल देर शाम इस्तीफे की स्वीकृति पर मुहर लगा दी।
ज्ञातव्य है, 16 अगस्त को अपना इस्तीफा मुख्य सचिव अजय सिंह को सौंप दिया था। सीएम की अनुशंसा के बाद 17 अगस्त को उन्होंने केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय को ओपी का इस्तीफा भेज दिया था।

ओपी चौधरी

ओपी चौधरी

ओपी 2005 बैच के आईएएस थे। वे रायगढ़ के बायंग गांव के रहने वाले हैं। खरसिया से उन्हें कांग्रेस के उमेश पटेल के खिलाफ विधानसभा चुनाव में उतारने की भाजपा की योजना है। जब वह दंतेवाड़ा के कलेक्टर थे तो उन्होंने अपने कार्यकाल में दंतेवाड़ा को एजुकेशन सिटी के तौर पर पहचान दिलाई | उन्हें पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में बेहतरीन काम के लिए प्राइम मिनिस्टर अवॉर्ड भी मिल चुका है | इसके अलावा वह रायपुर में नालंदा परिसर तैयार करवा चुके हैं | ये राज्य का पहला लर्निंग सेंटर है, जो 24 घंटे चलता है |
8 साल की उम्र में चौधरी के पिता का निधन हो गया था। ऐसे में मां ने मेहनत करके उन्हें पढ़ाया। इसी वजह से 12वीं में ही उन्होंने आईएएस बनने का फैसला ले लिया था। पीईटी में चयन होने के बावजूद उसे छोड़ दिया क्योंकि वह खुद को जिलाधिकारी के तौर पर ही देखना चाहते थे। 23 साल की उम्र में आईएएस अधिकारी बनने और इतनी बड़ी सफलता के बावजूद वो हमेशा अपनी जमीन से जुड़े रहते हैं। इस संबंध में जब उनसे पूछा गया था तो उन्होंने कहा, ‘जैसे ही आप बड़े ओहदे पर आते हैं, आपकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। ऐसे में आपकी परवरिश और संस्कार ही आपको जमीनी हकीकत से जोड़े रखती है। आज जमीनी हकीकत के जितने नजदीक होते हैं, उतने ही उसपर खरे उतरते हैं।’

Continue Reading

Indian News

नेपाल में मिलेगा आशीष को अंतरराष्ट्रीय साहित्य सम्मान

Published

on

Ashish Singhania

” प्रदेश का नेपाल-भारत साहित्य महोत्सव में करेंगे प्रतिनिधित्व “

Ashish Singhania

Ashish Singhania

Ashish Singhania

Ashish Singhania

देश में साहित्य और अदब की दुनिया में तेजी से स्थापित हो रहे प्रदेश के लोकप्रिय युवा ग़ज़लगायक व लेखक आशीष राज सिंघानिया ‘तन्हा’ की विभिन्न उपलब्धियों में आज एक बड़े सम्मान की घोषणा ने चार चाँद लगा दिया. ख़बर के अनुसार आगामी 11 से 13 अगस्त 2018 को पड़ोसी देश नेपाल के प्रमुख व्यावसायिक केंद्र बीरगंज में आयोजित होने जा रहे तीन दिवसीय नेपाल-भारत साहित्य महोत्सव में नेपाल की महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती विद्या देवी भण्डारी के हाथों श्री सिंघानिया को ‘नेपाल भारत अंतरराष्ट्रीय साहित्य रत्न सम्मान’ से सम्मानित किया जाएगा. उक्त दिवसों में आयोजित होने वाले पुस्तक लोकार्पण, प्रदर्शनी, किस्सागोई, रंगमंच, कवि सम्मेलन व मुशायरा, परिचर्चा आदि विभिन्न आयोजनों में श्री सिंघानिया छत्तीसगढ़ से एकमात्र प्रतिनिधि के रूप में अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज कराएंगे. गौरतलब है कि साहित्य के क्षेत्र में लगातार सक्रिय श्री सिंघानिया की उपलब्धियों को देखते हुए आयोजन समिति ने छत्तीसगढ़ से एकमात्र साहित्यकार के रूप में उनका चयन किया है, साथ ही भारत से जाने वाले पचास सदस्यीय प्रतिनिधि मण्डल में वे प्रदेश का प्रतिनिधित्व करेंगे. उनके इस प्रथम अंतरराष्ट्रीय साहित्य भ्रमण व सम्मान पर प्रदेश के वरिष्ठ साहित्यकार गिरिश पंकज, भाषाविद नर्मदा प्रसाद मिश्र, उर्दू अकादमी उपाध्यक्ष नजमा अज़ीम, लोककवि मीर अली मीर, वरिष्ठ ग़ज़लकार मुकुंद कौशल, विनोद शर्मा, ढाल सिंह राजपूत, इंद्रपाल पसरिजा, जांजगीर से वरिष्ठ कवि विजय राठौर व सुरेश पैगवार, कोरिया से डॉ. सपन सिन्हा, दुर्ग से डॉ. शाद बिलासपुरी, इंद्रजीत दादर व प्रीति सरू, जशपुर से राज्य हज कमेटी सदस्य इम्तियाज अंसारी, मिलन मलरिहा, बीजापुर से पुरुषोत्तम चंद्राकर, जगदलपुर से भरत गंगादित्य, बालोद से अशोक आकाश, बलौदाबाजार से वंदना गोपाल शर्मा, रायपुर से दोहाकार राजेश जैन राही, तेज साहू व महेंद्र भारद्वाज, राजनांदगांव से कवि मनोज शुक्ला व जिनेन्द्र पारख, सुरजपुर से रमेश गुप्ता व प्रकृति कश्यप, बिलासपुर से श्री कुमार पांडेय, कबीरधाम से अभिषेक पांडेय व राजा टाटिया, महासमुंद से हास्य कवि अजय अटपटू, कांकेर से अशोक यादव, मुंगेली से देवेंद्र परिहार व राकेश गुप्त, बेमेतरा से प्रतुल वैष्णव व नेहा दुबे, रायगढ़ से अमित दुबे व दिनेश दिव्य सहित नागेंद्र ब्रम्हभट्ट, प्रतीक सिंघानिया, नदीम मेमन, राहुल कुशवाहा, हेमंत वर्मा, ऋषिकेश राठौड़, मिताली खोडियार, इरफान खान, विकास बंसल, आयुष अग्रवाल, योगराज साहू, ईश्वर तिवारी, हर्ष बिंदल, मृणाल परिहार, विनय सिंघानिया आदि मित्रों व शुभचिंतकों ने उनकी इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर अपनी-अपनी बधाइयाँ प्रेषित की.

Continue Reading
Khabri Babu Ad

Trending

Copyright © 2017 All Rights Reserved. www.khabaribabu.com

Shares